Feb 12, 2024, 20:15 IST

क्रिकेट इतिहास का वो मुकाबला, जिसे देखने के लिए पूरे दिन स्टेडियम में बैठे रहे थे अमेरिक के राष्ट्रपति

vvv

अमेरिका में टेनिस, गोल्फ, बास्केटबॉल, बेसबॉल और अमेरिकन फुटबॉल आदि खेलों को ज्यादा पसंद किया जाता है. अमेरिका में यही इन्हीं खेलों को लोग सबसे ज्यादा देखते हैं. अमेरिका में क्रिकेट देखने वालों की संख्या ना के बराबर है. अमेरिका में रहने वाले वही लोग क्रिकेट को पूछते हैं जो भारत-पाकिस्तान समेत दक्षिण एशिया के देशों से जाकर वहां बस गए हैं. डेढ़ सौ साल के इतिहास में क्रिकेट को अमेरिका में कोई पहचान नहीं मिली. लेकिन आज हम आपको क्रिकेट इतिहास के एकमात्र मैच के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे देखने के लिए स्टेडियम में एक अमेरिकी राष्ट्रपति पूरे दिन बैठा रहा था. 

हम बात कर रहे हैं अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ड्वाइट आइजनहावर की. उन्होंने उस दिन जो मैच देखा था वो पहली बार इस खेल को देखने वाले किसी भी व्यक्ति को पसंद ना आए. बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति आइजनहावर ने स्टेडियम में जाकर लाइव क्रिकेट मैच देखा था. 50 के दशक में आइजनहावर अमेरिका के प्रथम नागरिक थे. वह 1959 में पाकिस्तान दौरे पर गए थे. इस दौरान उन्हें क्रिकेट देखने का मौका मिला. 

उन दिनों ऑस्ट्रेलियाई टीम पाकिस्तान दौरे पर थी. दोनों टीमों के बीच कराची में सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच खेला जा रहा था. अमेरिकी राष्ट्रपति भी मैच का मजा उठाने के लिए स्टेडियम में पहुंचे. अमेरिकी राष्ट्रपति आइजनहावर ने 8 दिसंबर को पहली बार स्टेडियम में मैच देखा था. उन्हें एक शानदार मुकाबले की उम्मीद थी. लेकिन उन्हें जो देखने को मिला वह बहुत ही बोरिंग था. 

मैच के चौथे दिन दूसरी पारी को आगे बढ़ाते हुए पाकिस्तान की टीम ने दिन बल्लेबाजी की. पाकिस्तानी पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद हनीफ क्रीज पर जमे रहे. पूरे दिन में केवल 5 विकेट ही गिरे. मैच के पांचवें दिन यह टेस्ट ड्रॉ हो गया. लेकिन अब यह कहना मुश्किल है कि अमेरिका के राष्ट्रपति के साथ क्रिकेट का यह पहला अनुभव ऐसा रहा. इस कारण उनके देश में क्रिकेट का खेल अपनी जगह नहीं बना पाया. लेकिन उस दिन इतिहास जरूर बन गया. 

Advertisement