Fri, 26 Nov 2021

टेस्ट इतिहास का सबसे लंबा मैच, जिसमें फिंकी थीं 5447 गेंद और बने थे 1981 रन

KKKL

भले ही टी-20 और वनडे क्रिकेट सबसे ज्यादा लोकप्रिय हो, लेकिन क्रिकेटर की असली परीक्षा टेस्ट क्रिकेट में ही होती है. मौजूदा समय में टेस्ट क्रिकेट 5 दिन तक खेला जाता है. लेकिन पहले ऐसा नहीं होता था. जब टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत हुई थी तो बिना किसी समय सीमा के ही मुकाबले खेले जाते थे. आज हम आपको टेस्ट क्रिकेट के इतिहास के सबसे लंबे मैच के बारे में बताने वाले हैं, जिसे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी जगह मिली.

1939 में डरबन में इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच मैच खेला गया था. इस मुकाबले में दक्षिण अफ्रीकी टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और पहली पारी में 530 रन बनाए. इंग्लैंड की टीम दक्षिण अफ्रीका से मिले लक्ष्य का पीछा करते हुए पहली पारी में 316 रन पर ही ढेर हो गई. पहली पारी के आधार पर दक्षिण अफ्रीका को 214 रन की बढ़त मिल गई थी.

इसके बाद दक्षिण अफ्रीका की टीम दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने उतरी तो उसने 481 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया और इस तरह इंग्लैंड को आखिरी पारी में जीत के लिए 696 रन का लक्ष्य मिला. इंग्लैंड की टीम जब बल्लेबाजी करने उतरी तो टीम की शुरुआत कुछ खास नहीं रही.

लेकिन फिर इंग्लैंड ने 5 विकेट खोकर 654 रन बना लिए. हालांकि दूसरी पारी के इस स्थिति तक पहुंचते-पहुंचते 12 दिन हो चुके थे. इसमें दो रेस्ट-डे भी शामिल थे. 12वें दिन इंग्लैंड को जीत के लिए 42 रन की जरूरत थी और मैच खत्म नहीं हो रहा था. इंग्लैंड की टीम को केपटाउन भी पहुंचना था. इस वजह से इस मैच को ड्रॉ घोषित कर दिया गया. इस मैच में कई रिकॉर्ड बने थे, जो आज तक नहीं टूटे हैं.

Advertisement