Feb 12, 2024, 18:48 IST

ये किसान आंख से लेकर किडनी तक कर चुका है दान, अब तक बचा चुका है 150 से अधिक लोगों की जान

जे

भारत में होने वाले सड़क हादसों के कारण हर साल लाखों लोगों की मृत्यु हो जाती है. इनमें से कई मामले ऐसे भी होते हैं जहां सही समय पर इलाज ना मिलने के कारण लोग अपनी जान गवा देते हैं. कानूनी उलझन में फंसने के कारण कई लोग डर के मारे मदद के लिए भी सामने भी नहीं आते. आज हम आपको एक ऐसे ही व्यक्ति के बारे में बताने जा रहे हैं जितने मानवता का परिचय दिया और अब तक उसने डेढ़ सौ से ज्यादा लोगों की जान बचाई है. 

हम बात कर रहे हैं मध्यप्रदेश के देवास के रहने वाले मनोज पटेल की, जो कि मूल एक किसान है. समाज में उनकी पहचान मुसीबत में फंसे लोगों की जान बचाने के लिए मददगार के तौर पर है. एक वेबसाइट को दिए गए इंटरव्यू में मनोज ने बताया था कि उन्होंने अब तक 152 लोगों की जान बचाने के अलावा 11000 से अधिक बच्चों को मुफ्त इलाज करवाने में भी मदद की है. 

मनोज ने इस बारे में विस्तार से बात करते हुए कहा- यह दो दशक से भी अधिक पुरानी बात है, तब मैं स्कूल में पढ़ता था. 1 दिन स्कूल में क्रिकेट खेलते हुए एक बच्चे को काफी चोट लग गई और वह बेहोश हो गया. मैं उसे अस्पताल लेकर गया. इसके बाद ही मुझे लोगों की मदद करने की प्रेरणा मिली. मनोज ने बताया कि उन्होंने सड़क हादसे में घायल मरीजों को बचाने का सिलसिला लगभग 12 साल पहले शुरू किया था. 

उन्होंने कहा कि जब मैंने पहली बार सड़क हादसे में घायल व्यक्ति को बचाया तो उनका काफी खून बह रहा था. मैं उसे अस्पताल लेकर गया. डॉक्टर ने कहा कि यदि 10-15 मिनट और देरी हो जाती तो उसका बचना मुश्किल था. मनोज ने यह भी बताया कि वह लोगों को बचाने की कहानी को सोशल मीडिया पर पोस्ट करते थे, जिससे कई लोगों को प्रेरणा मिली और वह भी उनकी पहल से जुड़ गए. 

वर्तमान में उनके साथ150 लोग हैं. इतना ही नहीं मनोज में अपनी गाड़ी को एंबुलेंस का रूप दे दिया है. मनोज ने सड़क हादसों में घायल लोगों के अलावा 11 हजार से अधिक दिव्यांग बच्चों का भी इलाज करवाने में मदद की है.

Advertisement