Feb 12, 2024, 20:14 IST

ये डॉक्टर कार में क्लीनिक खोलकर सड़कों पर मुफ्त में करता है मरीजों का इलाज, किसी मसीहा से नही है कम

N

बेंगलुरु के डॉक्टर सुनील भी दूसरे लोगों की तरह अच्छी और आलीशान जिंदगी जीना चाहते थे. लेकिन 10 साल पहले उनकी जिंदगी में कुछ ऐसी घटना हुई, जिसके बाद उनकी सोच ही बदल गई. इस घटना के बाद डॉक्टर सुनील मुफ्त में जरूरतमंद लोगों का इलाज करने लगे. उन्होंने अपनी कार को मोबाइल क्लीनिक बना दिया. जब भी उन्हें मदद के लिए कोई फोन आता है तो वह तुरंत अपनी कार लेकर निकल पड़ते हैं.

बेंगलुरु के मल्लेश्वरम के रहने वाले डॉ सुनील कुमार हेब्बी ने 2010 में मोबाइल क्लीनिक शुरू किया था. एक दिन वह तमिलनाडु में होसुर-चेन्नई हाईवे से अपने अस्पताल की तरफ जा रहे थे. तभी उनके सामने एक सड़क दुर्घटना हुई. तुरंत डॉक्टर सुनील उस ओर भागे और उन्होंने घायल व्यक्ति को प्राथमिक उपचार दिया और उसे नजदीकी अस्पताल ले गए.

शाम होते-होते डॉक्टर सुनील यह घटना भूल चुके थे. लेकिन अगले दिन उनके पास उस व्यक्ति की मां का फोन आया. उन्होंने डॉक्टर को धन्यवाद किया और घर आने का निमंत्रण दिया. सुनील उस व्यक्ति के घर पहुंचे और तब उन्हें इस बात का एहसास हुआ कि अगर उन्होंने उस आदमी की मदद ना की होती तो शायद आज वह जीवित ना होता. 

जिस व्यक्ति की डॉक्टर सुनील ने जान बचाई थी, उसकी आर्थिक स्थिति बहुत खराब थी. वह अपने पैसों से इलाज भी नहीं करवा सकते थे. इस घटना के बाद डॉक्टर सुनील की जिंदगी और सोच बदल गई. उन्होंने अपने जीवन का उद्देश्य दूसरों की सेवा करना बना लिया. लेकिन डॉक्टर सुनील नौकरी छोड़कर लोगों की सेवा नहीं कर सकते थे, क्योंकि उनके परिवार की आर्थिक स्थिति भी बहुत अच्छी नहीं थी.

पहले उन्होंने शनिवार और रविवार को गरीबों की मदद करने के लिए मोबाइल क्लीनिक शुरू किया. लेकिन बाद में उन्होंने नौकरी छोड़ दी और अब वह लोगों की मदद करते हैं. वह उन मरीजों से फीस लेते हैं जो चुका सकते हैं. बाकी गरीब लोगों का वह मुफ्त में इलाज करते हैं.

Advertisement