Wed, 15 Sep 2021

जिंदा व्यक्ति तो पानी में डूब जाता है लेकिन मरने के बाद उसका शव तैरता रहता है, आखिर कैसे

म

आप सभी लोगों ने अक्सर देखा होगा कि किसी इंसान को तैरना नहीं आता और अगर वह पानी में गिर जाए तो वह लाख कोशिश करने के बाद भी अपने आप को डूबने से नहीं बचा पाता है। लेकिन बिना किसी प्रयास के पानी के ऊपर तैरता रहता है अथवा लिया होता है कि जीवित या मृत शरीर होता है ऐसा क्या होता है किसी भी स्थिति में हम नीचे चले जाते हैं स्थिति में हम ऊपर आ जाते है।

ऐसा क्यों होता हैं जिन्दा व्यक्ति पानी में डूब जाता है, लेकिन उसका शव तैरता रहता है | GK IN HINDI

जिस चीज का घनत्व ज्यादा होता है। वह चीज पानी में डूब जाती है कोई मनुष्य जीवित होता है जब डूबते समय मनुष्य के शरीर का घनत्व पानी की पहले तो ज्यादा होता है। तो इंसान के पानी में डूबने की प्रक्रिया के दौरान उसके फेफड़ों में काफी मात्रा में जल भर जाता है। यही कारण है कि उसकी मृत्यु हो जाती है यहां गौर करने वाली बात यह है कि मनुष्य की मृत्यु होती है उसका शरीर पानी में ऊपर की तरफ आना शुरू हो जाता है। क्योंकि ऐसा नहीं है पानी के बिल्कुल नीचे जहां तक वह जा सकता है वहां तक वह चला जाता है।

परमजीत सोलंकी बताते हैं कि जब शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली काम करना बंद कर देती है। और शरीर डीकंपोज होना शुरू हो जाता है मृत शरीर में बैक्टीरिया और कोशिकाओं और ऊतकों को खत्म करना शुरू कर देते हैं। तो बैक्टीरिया के कारण शरीर के अंदर मौजूद विभिन्न जैसे-जैसे निखिल अमोनिया कार्बन डाइऑक्साइड हाइड्रोजन आदि का शरीर से बाहर निकलना शुरू हो जाता है।

निष्कर्ष के तौर पर सरल भाषा में अगर समझे तो मृत शरीर का घनत्व ज्यादा होने के कारण पहले तो वह पानी में डूबता है। लेकिन जैसे जैसे शरीर डूबता है वैसे-वैसे घनत्व कम होने लगता है और वह हल्का हो जाता है। इसके साथ ही साथ उसने कई तरह की गैसे भी बनने लगती है जिसके कारण शरीर पानी में तैरने लगता है।

Advertisement