Fri, 30 Jul 2021

बिजली बचाने का क्या फायदा, जब हम उसको स्टोर ही नहीं कर सकते हैं | GK IN HINDI

बिजली बचाने का क्या फायदा, जब हम उसको स्टोर ही नहीं कर सकते हैं | GK IN HINDI

आप सभी लोगों ने अक्सर देखा होगा कि सरकार की सर्वाधिक सूचनाओं पर एक ही संदेश लिखा होता है। यदि कोई अभियान नहीं चल रहा है है तो उस पर लिखा होता है कि बिजली बचाइए अब सवाल यह है कि जब हम बिजली को स्टोर ही नहीं कर सकते हैं। तो हम बिजली को बचाएं क्यों और सरकार इस तरीके की बातें हमसे क्यों करती है। यदि जनता ने सरकार की बात मान ली तो फिर बची हुई बिजली का सरकार क्या करेगी आइए आपको बताते हैं।

बिजली बचाने का क्या फायदा, जब हम उसको स्टोर ही नहीं कर सकते हैं | GK IN HINDI

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान जमशेदपुर से बीटेक विद्युत अभियांत्रिकी श्री केशव कुमार जो भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण में कार्यरत हैं। वह उस बात को बताते हैं कि यह एक बेहतरीन सवाल होता है। कुछ लोग सोचते हैं कि जब तार में करंट आ रहा है। तो उसका उपयोग कर ही लिया जाए नहीं करेंगे तो आप नष्ट हो जाएंगे। जैसे नल में से यदि लगातार पानी आ रहा है तो उस पानी का उपयोग नहीं करते हैं। तो नाली में बह जाता है । लेकिन बिजली के मामले में ऐसा नहीं है।

दरअसल बिजली के उत्पादन की प्रक्रिया काफी कठिन होती है इसके कारण पर्यावरण में भी प्रभावित होता है। जबकि बिजली उत्पादन का कैलकुलेशन उल्टा होता है जब हम बिजली का खर्चा शुरू कर देते हैं तो हेड क्वार्टर में सरकार को पता चलता है कि बिजली की डिमांड बढ़ रही है। मांग की पूर्ति के लिए सरकार को बिजली का उत्पादन बनाना पड़ता है। यह केवल खर्चीला है बल्कि नुकसानदायक भी है यदि बिजली का खर्चा कम कर देंगे तो हेडक्वार्टर में उसकी डिमांड कम हो जाएगी और सरकार को कम से कम उत्पादन करना पड़ेगा। इससे एक तरफ पैसे की बचत होगी और दूसरी तरफ पर्यावरण थी इसलिए कहा जाता है कि बताइए।

Advertisement