Wed, 28 Jul 2021

क्या सांप खुद की जहर की थैली गटककर कर सकता है सुसाइड, जाने सच्चाई

क्या सांप खुद की जहर की थैली गटककर कर सकता है सुसाइड, जाने सच्चाई

मल्टीप्लेक्स और मॉल या ऐसे कुछ स्थानों पर आपने देखा होगा कि टॉयलेट का दरवाजा नीचे से थोड़ा खुला होता है. यानी टॉयलेट का दरवाजा जमीन से थोड़ा ऊपर से शुरू होता है. लेकिन क्या आपके मन में कभी यह सवाल आया है कि ऐसा क्यों होता है.

क्या सांप खुद की जहर की थैली गटककर कर सकता है सुसाइड, जाने सच्चाई

आनंद शंकर के मुताबिक, फर्श और दरवाजे के बीच में गैप इसलिए रखा जाता है कि वह दरवाजा कम और खिड़की ज्यादा लगता है. इस गैप को रखने के कई सार्थक उद्देश्य है. वहां के टॉयलेट दिनभर इस्तेमाल होते रहते हैं, जिससे फर्श लगातार खराब होता रहता है. फर्श और दरवाजे के बीच जगह होने से टॉयलेट में पोछा लगाना आसान हो जाता है. वाईपर और मॉप घुमाने में आसानी होती है.

अगर टॉयलेट के अंदर मेडिकल इमरजेंसी हो तो दरवाजा बंद होने पर भी बाहर लोगों को पता चल जाएगा. कुछ नहीं तो बाहर से यह दिखता रहेगा कि कोई बड़ी देर से अंदर है और बाहर नहीं निकल रहा/रही है.

तीसरी बात यह है कि कई बार छोटे बच्चे टॉयलेट के अंदर खुद को लॉक कर लेते हैं और वह लॉक नहीं खोल पाते. ऐसे में अगर वहां मदद के लिए कोई ना हो तो बच्चा दरवाजे के नीचे से बाहर निकल सकता है.

चौथा यह कि टॉयलेट के दरवाजे से बाहर वाले को आपके पैर देखते रहते हैं. ऐसे में कोई भूलकर भी अंदर जाने की गलती नहीं करेगा और ना ही दरवाजा खटखटा कर आपको तंग करेगा.

Advertisement